Thursday, October 4, 2018

वा घस्यारी...

व घस्यारी नि दिखेन्द
अब डॉडि-काठ्यूॅ मा,
उकाळ,उंदार, बाटा-घाटों मा,
ज्वा!
छुणक्याळी दाथुड़ी
ले कि आन्दी छै, बणों मा।।
अर्बी घास कटदी छै,
अर गीत लगान्दी छै
ज्वा चाठौं- पाखों मा।।
शायद वींकि-
दाथुड़ी ख्वींडि ह्वे गै होली,
या दाथुड़ी हरची गै होली,
या फिर-
वींन गोर-भैसा बिकैयाली होला
या फिर वा-
दूर चली गै होली परदेश
अपणा स्वामी का संग मा।।
सुचणू च पतरौळ
बांजा हुयां छन,
छन, मरूड़ी, गौऊ खोळ,
यखुली-यखुली भटकणू च,
बणों मा आज पतरौळ ।।
अतुल गुसाईं जाखी (सर्वाधिकार सुरक्षित)


Sunday, September 23, 2018

हे मेरी आंख्युं का रतन..

हे मेरी आंख्युं का रतन बाला स्ये जादी,बाला स्ये जादी दूध भात दयोलू मी ते तैन बाला स्ये जादी-२ हे मेरी आंख्युं का रतन बाला स्ये जादी-४ मेरी औंखुडी पौन्खुड़ी छै तू, मेरी स्याणी छै गाणी मेरी स्याणी छै गाणी मेरी जिकुड़ी उकुड़ी ह्वेल्यु रे स्येजा बोल्युं मानी स्येजा बोल्युं मानी

Monday, July 2, 2018

ईश्वर इन सबकी आत्मा को शांति प्रदान करे...

पौड़ी जिले के धुमाकोट के निकट--मिनी बस 28 सिटर में 55 सवारी थे।। हादसे मैं सभी की मौत,, बताया जा रहा है एक ही परिवार के 11 लोग इस बस मैं थे। ईश्वर इन सबकी आत्मा को शांति प्रदान करे।।।

Sunday, June 17, 2018

बाॅलीवुड के मशहूर सिंगर और उत्तराखण्ड की शान ...

बाॅलीवुड के मशहूर सिंगर और उत्तराखण्ड की शान जुबिन नौटियाल जो कि आजकल एक विवादों में फसे हैं। उन पे एक लडकी ने छेडखानी का आरोप लगाया है वो भी उन के बर्थडे पार्टी जब उन के परिवार के सारे सदस्य उन के साथ थे और पूरा रेस्टूरेंट उन्होने बुक कराया था। जिस लडकी ने उन पे छेडखानी का आरोप लगाया है उस के लिए कोई निमं़त्रण नहीं था। जब उस लड़की के लिए कोई निमंत्रण ही नहीं था फिर वो और उस का साथी वहा किस लिए सामिल हुए ये सोचने के लिए मजबूर करता है। मुझे नहीं लगता कि कोई अपने परिवार के सामने इतनी गिरी हुई हरकत करेगा वो भी एक सूपर स्टार । मैने कल जुबिन भाई से काफी लम्बी बात की उस दिन क्या हुवा था कैसे हुवा सब, मुझे नहीं लगता कि उन्होने ऐसी हरकत की होगी। वो भी वो शक्स जिसके रक्तों में गढ़वाल का खून दौड़ रहा वो, वो अपने परिवार वालों के सामने ऐसी हरकत नहीं कर सकता है।





Tuesday, June 5, 2018

फिटगार..

पयाॅ कि डाळि मा हिता कु वास
कुळे मा सीता कु वास,
पीपळ मा विष्णू, केळा मा गणेश,
देवदार मा देवी, चॅदन मा नाग,
बाॅजा डाळी तैळ काळी कु वास,
बुरान्सा डाळी तैळ पिटुळी कु वास,
भ्यॅूल मा भैरव, ग्वीराळ मा गुरील,
नासपती मा नरसींग, भेडू मा वीर,
अर सुरैई डाळी मा शिव छन बस्याॅ।
अब तुमन डाळी कटणें, त काटी ल्या
पर कटण से पैली जरा सोची ल्या!
या देवभूमी च, हर डाळी मा
देवतों कु वास, अर देवतों कू बौल्यूॅ
डाळी नि कट्याॅ!
आजकल मेरू लगणू बडू फिटगार।।
अतुल गुसाईं जाखी (सर्वाधिकार सुरक्षित)